RBI ने FY22 के लिए 10.5 फीसदी GDP ग्रोथ अनुमान रखा बरकरार, राज्यों के लिए WMA की सीमा सितंबर तक बढ़ाया..

RBI retains GDP growth forecast: RBI ने FY22 के लिए 10.5 फीसदी GDP ग्रोथ अनुमान रखा बरकरार, राज्यों के लिए WMA की सीमा सितंबर तक बढ़ाया..

क्या आप जानते है दवाइयों के पत्ते के पीछे बनी लाल पट्टी का क्या मतलब, अभी जानें..

RBI retains GDP growth forecast: बुधवार को RBI ने चालू वित्त वर्ष के लिए इकोनॉमिक ग्रोथ के अनुमान को 10.5 फीसदी पर बरकरार रखा और कहा कि कोविड-19 संक्रमण में बढ़ोतरी ने इकोनॉमिक ग्रोथ रेट में सुधार को लेकर अनिश्चितता पैदा की है| अपनी ताजा नीति समीक्षा में, RBI ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए जीडीपी (GDP) ग्रोथ रेट के 10.5 फीसदी पर रहने का अनुमान जताया| समीक्षा में कहा गया कि विभिन्न कारकों को ध्यान में रखते हुए वास्तविक जीडीपी ग्रोथ के 2021-22 में 10.5 फीसदी पर रहने का अनुमान है, जो पहली तिमाही में 26.2 फीसदी, दूसरी तिमाही में 8.3 फीसदी, तीसरी तिमाही में 5.4 फीसदी और चौथी तिमाही मे 6.2 फीसदी रह सकती है|

RBI के गवर्नर शक्तिकांत दास ने मौद्रिक नीति समिति (MPC) के फैसलों की घोषणा करते हुए कहा, सभी की सहमति से यह भी निर्णय लिया कि टिकाऊ आधार पर ग्रोथ को बनाए रखने के लिए जब तक जरूरी हो, उदार रुख को बरकरार रखा जाएगा और अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के असर को कम करने के प्रयास जारी रहेंगे|

आरबीआई ने प्रमुख रेपो रेट को 4 फीसदी पर अपरिवर्तित रखने का फैसला किया, लेकिन साथ ही अर्थव्यवस्था को समर्थन देने के लिए जरूरत पड़ने पर आगे कटौती की बात कहकर उदार रुख को बरकरार रखा|

अगर आपकी भी आँखों के नीचे होते है काले घेरे, तो अपनाएं ये उपाय..

Click Here for Best Professional Photographer across India

राज्यों के लिए 51,560 करोड़ की डब्ल्यूएमए सीमा को सितंबर तक बढ़ाया

RBI retains GDP growth forecast: आरबीआई राज्यों के लिए 51,560 करोड़ रुपए की डब्ल्यूएमए (WMAs) की सीमा को सितंबर तक बढ़ा दिया, ताकि उन्हें कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर से पैदा हुए वित्तीय तनाव से निपटने में मदद मिल सके| डब्ल्यूएमए आरबीआई द्वारा राज्यों को दी जाने वाली अल्पकालीन उधार है, ताकि आय और व्यय के अंतर को पूरा किया जा सके|

डब्ल्यूएमए दो तरह के होते हैं – सामान्य और विशेष| सामान्य डब्ल्यूएमए शुद्ध उधारी की तरह होते हैं, जबकि विशेष डब्ल्यूएमए को भारत सरकार की प्रतिभूतियों के बदले दिया जाता है और इन्हें अधिक सुरक्षित माना जाता है| इसके साथ ही आरबीआई ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की कुल डब्ल्यूएमए सीमा को बढ़ाकर 47,010 करोड़ रुपए प्रति वर्ष कर दिया है|

Second Hand Laptop: सेकेंड हैंड लैपटॉप खरीदने से पहले इन बातों का ध्यान, जानें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *