सोशल मीडिया का उपयोग करते है तो सरकार की इस गाइडलाइन का हमेशा ध्यान रखना चाहिए..

Social media guideline: सोशल मीडिया का उपयोग करते है तो सरकार की इस गाइडलाइन का हमेशा ध्यान रखना चाहिए..

घर बैठे Mobile से हर रोज 1000 रुपए कैसे कमा सकते हैं, जानें..

Social media guideline: यदि आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे फेसबुक, ट्विटर और व्हाट्सएप आदि का उपयोग करते हो तो यह खबर आपके लिए बहुत जरूरी है। सोशल मीडिया उपयोग करने वालों के लिए सरकार ने छह बातें बताई है जिन्हें जानना आपके लिए बहुत जरूरी है। गृह मंत्रालय की साइबर सेल ने सोशल मीडिया पर हो रहे फ्रॉड को लेकर लोगों को आगाह किया है। आइए जानते हैं इसके बारे में…

Social media guideline

1. पहली बात यह कि सोशल मीडिया पर किसी भी तरह की निजी जानकारी शेयर ना करें। जैसे कि मोबाइल नंबर, आधार नंबर, घर का पता आदि। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर पारिवारिक फोटो को भी शेयर करने से परहेज करना चाहिए। आपको द्वारा शेयर की गई इन जानकारियों का इस्तेमाल आपको ही परेशान करने के लिए किया जा सकता है।

2. यदि आप सोशल मीडिया पर कोई फोटो या वीडियो शेयर करते हैं तो उसकी सेटिंग प्राइवेट रखें या सीमित रखें। कहने का मतलब है कि सोशल मीडिया पर फोटो, वीडियो, फ्रेंड लिस्ट की प्राइवेसी आदि को वनली मी करके रखें, पब्लिक ना रखें। इसके लिए प्राइवेसी सेटिंग्स में जाकर सेटिंग्स बदलें।

3. किसी का भी फ्रेंड रिक्वेस्ट स्वीकार करने से पहले उसके बारे में पूरी जानकारी लें। उसकी प्रोफाइल चेक करें और टाइमलाइन पर नजर डालें। यदि आप किसी को नहीं जानते हैं तो उसकी फ्रेंड रिक्वेस्ट को स्वीकार ना करें।

4. किसी भी ऑनलाइन दोस्ती पर यकीन करना आपको बड़ी मुसीबत में डाल सकता है, क्योंकि वास्तविक दोस्ती और वर्चुअल दोस्ती में जमीन-आसमान का फर्क होता है। सोशल मीडिया के जरिए यदि आपसे कोई पैसे मांगता है तो किसी भी कीमत पर पैसे ना भेजें। यदि आपके किसी पहचान वाले दोस्त या परिवार के किसी सदस्य की आईडी से पैसे मांगे जाते हैं तो पहले उस दोस्त या सदस्य को फोन करें। उससे बात करें। सीधे पैसे ट्रांसफर ना करें।

5. साइबर अपराधी सोशल मीडिया पर आपसे ज्यादा एक्टिव हैं और नकली प्रोफाइल बनाकर बैठे हैं। आपकी एक गलती का वे इंतजार कर रहे हैं। यदि आपके किसी ऐसे दोस्त की फ्रेंड रिक्वेस्ट आती है जो कि पहले से ही आपकी लिस्ट में है और आप उसे जानते हैं तो सतर्क हो जाएं, क्योंकि दूसरी प्रोफाइल साइबर अपराधी ने बनाई है।

6. यदि आप किसी कारणवश साइबर क्राइम के शिकार हो जाते हैं तो घबराएं नहीं। परिवार के सदस्यों या करीबी दोस्त से बात करें। अधिक दिक्कत होने पर पुलिस को रिपोर्ट करें। आप नेशनल साइबर क्राइम की वेबसाइट पर जाकर शिकायत भी कर सकते हैं।

एक ही पेड़ पर लगते हैं 40 तरह के फल, कीमत सुन होश उड..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *