कमलनाथ अब मध्यप्रदेश उपचुनाव में ‘स्टार प्रचारक’ नहीं, विवादित टिप्पणी पर चुनाव आयोग का फैसला..

Kamal Nath no longer star campaigner: कमलनाथ अब मध्यप्रदेश उपचुनाव में ‘स्टार प्रचारक’ नहीं, विवादित टिप्पणी पर चुनाव आयोग का फैसला..

ऑनलाइन फ्रॉड और हैकिंग से बचना चाहते है तो आज से ही इन बातो पर अमल शुरू कर दें..

Kamal Nath no longer star campaigner: चुनाव आयोग ने मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के खिलाफ उनके विवादित बयानों को लेकर कड़ी कार्रवाई करते हुए उन्हें कांग्रेस की स्टार प्रचारक सूची से हटा दिया है| कमलनाथ पर चुनाव प्रचार के दौरान कई आपत्तिजनक बयान देने के आरोप हैं|

कमलनाथ ने कुछ दिनों पहले मध्य प्रदेश सरकार की मंत्री इमरती देवी के खिलाफ भी आपत्तिजनक टिप्पणी की थी| उन्होंने इमरती देवी को आइटम कहा था और आलोचना के बाद माफी मांगने से भी इनकार कर दिया था| विश्लेषकों का कहना है कि स्टार प्रचारकों का खर्च पार्टी के खर्च में जोड़ा जाता है, न कि उस सीट से लड़ रहे पार्टी के प्रत्याशी के खर्च में| भाजपा और कांग्रेस के शीर्ष नेताओं ने पिछले कुछ दिनों में एक-दूसरे को गद्दार और अन्य आपत्तिजनक शब्द कहे| कांग्रेस का कहना है कि “गद्दारी” कमलनाथ सरकार के पतन का कारण बनी| बीजेपी का कहना है कि गद्दार वे नहीं बल्कि कांग्रेस है, जिसने अपने घोषणा पत्र में किए गए वादों को पूरा नहीं करके मध्यप्रदेश की जनता को धोखा दिया है|

एलोविरा त्वचा के साथ ही इन अन्य रोगो में भी रामबाण इलाज है, जानें..

Click Here For Free Test Series For SSC, Bank, Railway – Join Us Now

Kamal Nath no longer star campaigner: इससे पहले निर्वाचन आयोग ने भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय की ‘‘चुन्नू-मुन्नू” वाली टिप्पणी पर नाराजगी जताई है| आयोग ने इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन बताया है| विजयवर्गीय ने कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और कमलनाथ के खिलाफ यह टिप्पणी की थी| आयोग ने विजयवर्गीय को आचार संहिता के दौरान सार्वजनिक तौर पर ऐसे शब्दों का इस्तेमाल नहीं करने की हिदायत दी|

मध्य प्रदेश की 28 विधानसभा सीटों पर तीन नवंबर को उपचुनाव होने हैं| इसको लेकर चुनाव प्रचार जोरशोर से चल रहा है| कांग्रेस के 28 विधायकों के इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल होने के कारण इन सीटों पर उपचुनाव हो रहा है| दोनों दलों के नेताओं की ओर से लगातार अमर्यादित बयान सामने आ रहे हैं|

इस व्यक्ति के पास थी ‘दिव्य शक्ति’, विज्ञान आज तक नहीं सुलझा पाया इसका रहस्य..

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *